अग्निवीर भर्ती रैली: हेराफेरी में पकड़े गए 503 अभ्यर्थी, पोल खुली तो हर कोई हैरान, सेना अफसरों ने लिया एक्शन

अभी अभी जानकारी मिली है कि अग्निवीर के भर्ती में 503 अभ्यर्थियों को पकड़ा गया है ये सभी लोग अपने शातिर दिमाग का सहारा लेकर सेना में भारती होना चाहते थे



 अग्निवीर भर्ती रैली में शामिल होने की कोशिश कर रहे निर्धारित से अधिक उम्र के 403 अभ्यर्थियों को सेना के अधिकारियों ने चेकिंग में पकड़ लिया। अभ्यर्थियों को वापस घर भेज दिया गया है। इसके अलावा भर्ती में 100 अभ्यर्थी गलत जन्मतिथि वाले पकड़े गए हैं।

सेना अफसरों की कार्यवाही हो रही है 

मुजफ्फरनगर में चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में चल रही अग्निवीर भर्ती रैली में सेना ने चौकसी बढ़ा दी है। सोमवार को बुलंदशहर सदर और अनूपशहर जिले की भर्ती हुई। प्रमाण पत्रों की चेकिंग के दौरान 403 अभ्यर्थी ऐसे निकले हैं, जिन्होंने उम्र कम दर्शाकर आवेदन किया था, लेकिन भर्ती स्थल पर प्रमाणपत्रों की जांच में वह पकड़े गए। ऐसे अभ्यर्थियों को भर्ती स्थल से वापस घर भेज दिया गया है। दोनों तहसीलों के अभ्यर्थियों में 100 अभ्यर्थी ऐसे भी मिले, जिन्होंने प्रमाणपत्रों में गलत जन्मतिथि अंकित कराई थी। इस तरह उम्र में हेराफेरी करने वाले 503 अभ्यर्थी सोमवार को पकड़े गए हैं।

अब तक पकड़े जा चुके 677 अभ्यर्थी जिन्होंने कोशिश की 
अग्निवीर भर्ती में गलत उम्र दर्शाकर शामिल होने की कोशिश करने वाले अब तक करीब 677 अभ्यर्थी पकड़े जा चुके हैं। सोमवार को 503 अभ्यर्थी पकड़े गए, जबकि इससे पहले दो बार 174 अभ्यर्थी गड़बड़ी की कोशिश में पकड़े गए थे।

इस तरह पकड़े जा रहे हैं मामले को लेकर कार्यवाही 
भर्ती की उम्र 23 साल निर्धारित है। ऐसे अभ्यर्थी जो ओवरएज हो गए हैं, वह दोबारा से दसवीं की परीक्षा पास कर या फर्जी अंक प्रमाण पत्र बनवा लेते हैं। इसके बाद आधार कार्ड में जन्मतिथि बदलवाकर भर्ती में शामिल होने की कोशिश करते हैं।

आधार कार्ड अपडेट करवाते है 

भर्ती स्थल पर जांच की जा रही है कि आवेदक ने पिछले कुछ सालों में कितनी बार आधार कार्ड अपडेट कराया और जन्मतिथि कितनी बार बदलवाई है। यहीं पर अभ्यर्थी संदेह के घेरे में आ जाते हैं।
Post a Comment (0)
Previous Post Next Post